Monday, 30 September 2019

बदलने वाली है चांदनी चौक की रौनक 

मुगल बादशाह शाहजहां की बेटी जहांआरा द्वारा डिजाइन किये गये चांदनी चौक को तीन सदियों बाद पहले बड़े कमर्शियल डैवलपमेंट की बदौलत नया रूप मिलने जा रहा है। यह नया रूप चांदनी चौक का नया लैंडमार्क बन कर सामने आएगा। 


चांदनी चौक एशिया का सबसे बड़ा थोक व खुदरा बाजार है। यह ऐतिहासिक बाजार हलचल से भरपूर है, यहां लंबे ट्रैफिक जाम लगते हैं। सड़कों, गलियों में पैदल चलने वालों, वाहनों व अन्य वजहों से जगह की तंगी बनी रहती है। 


चांदनी चौक में बड़े पैमाने पर रिडैवलपमेंट  प्रोजेक्ट चल रहा है ताकि यहां पहुंचने की राह सुगम की जा सके, यातायात सुचारु हो और बाजार में आने वालों को बुनियादी सुविधाएं प्रदान की जा सकें। पुनर्विकास का यह काम दिसंबर 2018 से आरंभ हुआ है और उम्मीद है की मार्च 2020 तक यह पूरा हो जाएगा। रिडैवलपमेंट प्रोजेक्ट के दो खास हिस्से हैं- मल्टी लैवल पार्किंग और कमर्शियल स्पेस; जिन्हें उत्तरी एमसीडी व ओमैक्स पीपीपी प्रोजेक्ट के तहत विकसित कर रहे हैं। ओमैक्स, भारत की अग्रणी रियल ऐस्टेट कंपनियों में से एक है।


चांदनी चौक में इस पैमाने का विकास कार्य सदियों में नहीं हुआ है। यह कमर्शियल कॉम्पलैक्स इस किस्म का पहला कमर्शियल डैवलपमेंट है और इससे कारोबार एवं ग्राहकों को बहुत बढ़ावा मिलेगा। गौर तलब है की इंफ्रास्ट्रक्चर की कमी, बुनियादी सुविधाओं के अभाव के चलते यहां आने वाले खरीददारों की तादाद में गिरावट आई है। मुगलकालीन थीम पर आधारित इस कॉम्पलैक्स के भीतर-बाहर वास्तुशिल्प के शानदार नमूने होंगे, खानेपीने की लज़ीज़ चीज़ें होंगी तथा यहां ऐसा प्रतीत होगा जैसे इतिहास जाग उठा है। इसे चांदनी चौक के दिल में एक नए लैंडमार्क के तौर पर विकसित किया जा रहा है, इसका इंटीरियर आसपास के वास्तुशिल्प से प्रेरित है।


कहा जाता है की चांदनी चौक में कई मौजूदा दुकानें आदि अनधिकृत और असंगठित हैं जिसके चलते कई व्यापारी सीलिंग अभियान, आग व अन्य जोखिमों के साथ रह रहे हैं। कमर्शियल डैवलपमेंट से अब न केवल खरीददारों के लिए सुविधाएं बढ़ जाएंगी व चांदनी चौक का सौंदर्य कायम रहेंगे बल्कि मौजूदा खामियों का भी निवारण होगा जिनका सामना व्यापारी वर्तमान में कर रहे हैं। इसके अलावा कई स्थानीय व्यापारियों एवं विनिर्माताओं को भी चांदनी चौक में आपूर्ति करने का अवसर प्राप्त होगा और वे एक संगठित सैटअप में अपनी पहचान बना सकेंगे। 


गांधी मैदान में बन रहा कमर्शियल कॉम्पलैक्स इस इलाके के लिए अपनी किस्म का एक खास डैवलपमेंट है। यहां पार्किंग स्पेस भी होगा- अंडरग्राउंड के तीन लैवल, ओवरग्राउंड के दो लैवल (थर्ड और फोर्थ फ्लोर पर)। यहां 2100 वाहन और 80 से अधिक टूरिस्ट बसें पार्क की जा सकेंगी। ग्राउंड एवं फर्स्ट फ्लोर खुदरा कारोबार के लिए होंगे तथा सैकिंड फ्लोर फूड कोर्ट व फाइन डाइनिंग के लिए समर्पित रहेगा जहां पूरे भारत व चांदनी चौक के विशिष्ट व्यंजन परोसे जाएंगे।


इस विकास कार्य से न केवल ज्यादा खरीददार चांदनी चौक की ओर आकर्षित होंगे बल्कि इससे झंझट मुक्त व सुविधाजनक अनुभव मिलेगा और इस ऐतिहासिक बाजार के दिल आकर लोग खरीददारी व खानपान का आनंद ले सकेंगे।


0 Comments:

Post a Comment

<< Home