Monday, 25 November 2019

ईसीजी: हृदय रोगियों की मृत्यु का पूर्वसूचक

इलेक्ट्रोकार्डियोग्राफी (ईसीजी) में खास किस्म की असामान्यता या गड़बड़ी मरीज की हृदय रोग से मृत्यु की आशंका का पूर्व संकेत हो सकती है। हृदय की मांसपेशियों में विद्युतीय प्रवाह की स्थिति का पता लगाने वाला इलेक्ट्रोकाडियोग्राम हृदय की मांसपेशियों, धड़कनों, हृदय की लयबद्धता तथा उसके चैम्बरों की स्थिति के बारे में महत्वूपर्ण जानकारियां देता है। लेकिन अमरीका के शिकागो स्थित लोयोला विश्वविद्यालय में किये गये नवीनतम अनुसंधान से पता चला है कि इलेक्ट्रोकार्डियोग्राम की रिपोर्ट के आधार पर मरीज की हृदय रोग से मृत्यु की आशंका का भी पता लगाया जा सकता है। जनरल आॅफ द अमरीकन मेडिकल एसोसिएशन  के ताजा अंक में प्रकाशित शोध रिपोर्ट के अनुसार किसी मरीज के हर ई.सी.जी. रिपोर्ट के ''एस टी-टी वेव'' नामक हिस्से में अगर गड़बड़ी या असामान्यता पायी जाये तो यह मरीज की हृदय की तकलीफों से मौत होने की आशंका का सूचक हो सकता है। लोयोला विश्वविद्यालय के औषध के प्रोफ्रेसर डा. युलियान लियाओ का कहना है कि चिकित्सक आम तौर पर ई. सी. जी. रिपोर्ट में इस असामान्यता या गड़बड़ी की ओर ध्यान नहीं देते। उनका कहना है कि चिकित्सकों को इस असामान्यता या गड़बड़ी की अनदेखी नहीं करनी चाहिये। यह दीर्धकालिक अनुसंधान 1957 में एक हजार 673 पुरुषों पर शुरू हुआ था। इनकी उम्र 40 से 55 साल के बीच थी। इस अनुसंधान से पता चला कि तीन या अधिक बार की ई.सी.जी. की रिपोर्टों में असामान्यता पाये जाने पर मरीज की हृदय रोग से मौत की आशंका ढाई गुनी बढ़ जाती है।


Labels:

0 Comments:

Post a Comment

<< Home