Saturday, 23 November 2019

कमर दर्द से बचने के कुछ जरूरी टिप्स

आम तौर पर जब कमर दर्द होता है तो हम सोचते हैं कि शायद गलत वजन उठा लिया होगा या शायद गद्दा-बिस्तर ठीक नहीं है या हम गलत मुद्रा में बैठकर टीवी देख रहे थे। परंतु याद रहे कि कमर दर्द इतनी आसान समस्या भी नहीं है। सामान्य-सा प्रतीत होने वाला कमर दर्द किसी बड़ी मुसीबत का भी संकेत हो सकता है और अगर इसके सही कारण का पता नहीं चला और सही
समय पर इलाज नहीं हुआ तो यह आपको जीवनभर के लिए विकलांग तक बना सकता है। कमर दर्द के कारण कई हो सकते हैं। डिस्क खिसक जाना, स्पोंडिलोसिस, कमर की हड्डी (मेरूदंड या बर्टिबा) में पैदाइशी विकृति, बढ़ी उम्र के कारण इन हड्डियों का कमजोर हो जाना आदि बहुत-से कारण तो वे हैं जो सीधे मेरूदंड की बीमारी से ताल्लुक रखते हैं। शरीर के किसी अंग में पनप रहा
कैंसर भी कमर दर्द पैदा कर सकता है। कैल्शियम मेटाबॉलिज्म का नियंत्रण करने वाले सिस्टम (पैराथायरॉइड/ विटामिन डी/ किडनी आदि) की गड़बड़ी भी हड्डियों को कमजोर करके कमर दर्द पैदा कर सकती है। यह पढ़कर आपको डरने की जरूरत नहीं है बल्कि जागरूक और सावधान होने की जरूरत है।
कुछ महत्वपूर्ण बातें
70 से 80 प्रतिशत लोगों को अपने जीवन में कभी न कभी कमर दर्द होता है।
तीन दिन से अधिक समय तक बिस्तर पर लेट कर आराम करने से मांसपेशियां कमजोर होती हंै और इससे लगातार कमर दर्द हो सकता है।
कमर दर्द से ग्रस्त 10 में से एक व्यक्ति को गंभीर समस्या होती है और 100 में से एक व्यक्ति को सर्जरी की जरूरत पड़ती है।
रोजाना 20 मिनट ध्यान करने से कमर दर्द से राहत पाने में काफी मदद मिलती है। ध्यान की मदद से गंभीर कमर दर्द के मरीजों को चिकित्सक की मदद लेने की जरूरत 36 प्रतिशत तक कम हो सकती है।


कमर दर्द से निजात ऐसे पाएं
हर सप्ताह करीब एक घंटा पैदल चलने पर कमर दर्द के साथ-साथ हृदय रोग की आशंका भी घटायी जा सकती है।
तनाव, मोटापा तथा बैठने के गलत तौर-तरीके कमर दर्द को बढ़ाते हैं।
एक ही स्थिति में ज्यादा देर नहीं बैठें।
बहुत देर तक बैठना जरूरी हो तो बीच-बीच में थोड़े समय के लिये उठें।
इस तरह से बैठंे ताकि रीढ़ को सहारा मिलता रहे।
झटका दिये बगैर बैठंे या उठें।
जब भी कभी झुकना पड़े तो रीढ़ की जगह घुटने को झुकायें।
शारीरिक वजन कम रखें।
सदैव सीधा खड़ा हों।
मेज पर बैठकर ही खाना खायें।
 कैल्शियम से भरपूर आहार का सेवन करें।
रोजाना सुबह-शाम कम से कम एक घंटा व्यायाम अवश्य करें।


No comments:

Post a Comment