Monday, 11 November 2019

स्तन कैंसरी की मरीजों ने अपने अनुभव साझा किए 

तमाम कष्टों और तकलीफों को झेलते हुये इस घातक बीमारी को मात देने वाली 65 महिलाओं ने नई दिल्ली में आयोजित एक संगोष्ठी में अपने- अपने अनुभवों को साझा किया। 
वरिष्ठ कैंसर विशेषज्ञ डा. कपिल कुमार ने कहा कि उत्तरजीविता ताउम्र चलने वाली प्रक्रिया है। उपचार के उपरांत भी देखभाल करने के अपने मिषन के तहत राजीव गांधी कैंसर संस्थान एवं अनुसंधान केंद्र स्तन कैंसर की जीवित मरीजों के समक्ष चुनौती पेश करने वाले मुद्दों के बारे में जागरूकता कायम करना तथा इन मुद्दों का समाधान करने के लिये उन्हें शिक्षित करना अपनी मुख्य जिम्मेदारी समझता है। 



यह संगोष्ठी मरीजों को कैंसर विषेशज्ञों के साथ सलाह-मशविरा करने, उनके साथ गहरे मानवीय रिश्ते बनाने तथा उपचार के बाद अपनी देखभाल में काम आने वाली जानकारियों को हासिल करने का मंच उपलब्ध कराता है। इस संगोष्ठी में वजन पर नियंत्रण रखने के लिये आहार एवं खान-पान के तौर-तरीकों, लिम्फेडेमा से मुकाबला करने के तरीकों, विग्स एवं प्रोस्थेसिस के बारे में व्यापक जानकारियां दी गयी। 


No comments:

Post a Comment