Thursday, 3 October 2019

‘प्लास्टिक हटाओ, पर्यावरण बचाओ‘, ‘प्लास्टिक हटाना है, स्वस्थ भारत बनाना है‘

जनकल्याण महिला समिति ने द्वारका में पैदल मार्च निकाला और दुकानदारों व आम जनता को प्लास्टिक बंद करने का आग्रह किया। यह पैदल मार्च पालम से चलकर द्वारका होते हुए हर दुकानदार से आग्रह करता हुआ गया कि पोलिथीन का इस्तेमाल करना बंद करें, कपड़े व जूट के बने बैग का इस्तेमाल करें। इस अवसर पर जनकल्याण महिला समिति के अध्यक्ष श्रीमती सुदेश डोगरा ने कहा कि प्लास्टिक हमारे जीवन के लिए घातक है, कैंसर जैसी घातक बीमारियों का कारण प्लास्टिक है, कितने ही बेजुबान जानवर इसे खाने से अपने प्राणों से हाथ धो बैठते हैं और पर्यावरण के लिए भी घातक है। उन्होंने आग्रह किया कि स्वच्छ भारत व स्वस्थ भारत बनाने के लिए प्लास्टिक का इस्तेमाल बंद करना पड़ेगा, ताकि हमारे आने वाले बच्चे स्वस्थ रहें। इस मार्च में समिति की महिलाएं में मधु बिष्ट, नीमा रावत, सरस्वती पांडेय, रेखा भट्ट, बीना रावत के अलावा कई छोटे-छोटे बच्चों ने हाथ में तख्तियां लेकर नारे लगाए, 'प्लास्टिक हटाओ, पर्यावरण बचाओ', 'प्लास्टिक हटाना है, स्वस्थ भारत बनाना है' और आने-जाने वाली जनता से नन्ही-नन्ही आवाज में आग्रह कि हमारे भविष्य को देखते हुए प्लास्टिक का इस्तेमाल बंद करें। इस मौके पर सुदेश डोगरा ने समिति की महिलाओं से कहा कि जनकल्याण महिला समिति कपड़े से बने थैले तैयार करेगी, ताकि पोलिथीन की जगह कपड़े से बने थैलों का इस्तेमाल किया जाय।


No comments:

Post a Comment