Saturday, 23 November 2019

अब डिंपल बनाना हुआ सिंपल

मनमोहक मुस्कान से ज्यादा आकर्षक कुछ भी नहीं हो सकती है और डिंपल को लंबे समय से मनमोहक मुस्कान का प्रतीक माना जाता रहा है। मिरांडा केर्र, जेनिफर गार्नर और चेरिल जैसी मशहूर हस्तियां अपनी डिंपल वाली मुस्कराहट से दर्शकों को अपना दीवाना बनाती रही हैं। और अगर हम अपने देश की बात करें तो दीपिका पादुकोण, बिपाशा बसु, प्रीति जिंटा, जाॅन अब्राहम और शााहरुख खान के डिंपल उनकी मुस्कुराहट और सुंदरता में चार चांद लगाते रहे हैं। 
आकर्षण का पर्याय है डिंपल
गाल पर डिंपल आम तौर पर पीढ़ी-दर-पीढ़ी चलते हैं। हालांकि इसके कुछ अपवाद भी होते हैं। दुनिया के अधिकांश हिस्सों में, डिंपल को आकर्षण का पर्याय माना जाता है। इसका कारण यह है कि डिंपल से चेहरा किसी मासूम बच्चे की तरह दिखता है। कुछ लोगों को तो डिंपल इतने आकर्षक लगते हैं कि वे डिंपल बनवाने के लिए सर्जरी कराने के लिए भी तैयार हो जाते हैं। भारत में यह प्रवृत्ति तेजी से बढ़ रही है और अधिक से अधिक युवा चाहे वह महिला हों या पुरुष अपने चेहरे का आकर्शण और सुंदरता बढ़ाने के लिए सर्जरी से कृत्रिम डिंपल बनवा रहे हैं। यह प्रक्रिया 22 से 30 साल के युवाओं में अधिक लोकप्रिय है।
डिंपल क्या है?
प्राकृतिक डिंपल गाल में मांसपेशियों में एक छोटा सा गड्ढा होता है। हालांकि यह आनुवंशिक होता है, लेकिन इसे न्यूनतम इनवैसिव शल्य चिकित्सा प्रक्रिया (डिंपलेप्लास्टी) से बनाया जा सकता है। हालांकि डिंपल  मांसपेशी में विकृति के कारण होता है, लेकिन कई संस्कृतियों में इसे बेहद आकर्षक माना जाता है। डिम्पल को युवा और सुंदरता का पर्याय माना जाता है, जो व्यक्ति की मुस्कुराहट को और आकर्षक बनाता है। प्राकृतिक रूप से चेहरे पर डिंपल के साथ पैदा हुए लोगों में इसकी गहराई उम्र के साथ और त्वचा, मांसपेशी और शारीरिक वजन में परिवर्तन के कारण कम हो सकती है।
चेहरे पर अलग-अलग हिस्सों में हो सकते हैं डिंपल
गाल पर डिंपल (चिक डिंपल) - डिंपल सबसे ज्यादा गाल पर ही पाये जाते हैं। लेकिन गाल पर भी यह अलग-अलग हिस्सों में हो सकते हैं। कुछ लोगों के गाल के दोनों तरफ डिंपल होते हैं तो कुछ लोगों में गाल के सिर्फ एक तरफ ही डिंपल होते हैं। 
ठुड्डी पर डिंपल (चिन डिंपल) - ठुड्डी पर डिंपल बहुत कम लोगों में देखे जाते हैं। यह जबड़े की बनावट में गड़बड़ी के कारण होता है। माता-पिता में से किसी एक को ठुड्डी पर डिंपल होने पर बच्चे में भी इसके होने की अधिक संभावना होती है।
कमर पर डिंपल (बैक डिंपल) - इस प्रकार के डिंपल को सौंदर्य की रोमन देवी 'वीनस का डिंपल' कहा जाता है। यह पीठ के निचले हिस्से में होता है और पुरुषों की तुलना में महिलाओं में अधिक आम है।
सर्जरी से बना सकते हैं डिंपल
जिन लोगों को जन्म से डिंपल नहीं है लेकिन वे डिंपल चाहते हैं तो सर्जरी से डिंपल बनवा सकते हैं। यह एक कॉस्मेटिक प्रक्रिया है जिसे लोकल एनीस्थिसिया देकर किया जा सकता है और मरीज उसी दिन घर जा सकता है। इसलिए इसे मामूली सर्जरी माना जा सकता है। हालांकि, चूंकि यह सर्जरी है इसलिए इसका चेहरे पर सीधा प्रभाव पड़ता है। इस सर्जरी में कुछ भी गलती होने पर इसका प्रभाव आपके चेहरे पर साफ दिखाई देगा। इसलिए यह सर्जरी किसी कुशल कॉस्मेटिक सर्जन से ही करवाना चाहिए।
सर्जरी से डिंपल एक गाल या दोनों गाल पर बनाया जा सकता हैं लेकिन आम तौर पर एक ही गाल पर डिंपल बनवाने की सलाह दी जाती है क्योंकि सटीक समरूपता को बनाए रखना मुश्किल हो सकता है और दोनों गालों पर डिंपल के स्थान में थोड़ा अंतर हो सकता है। और फिर आप उतना आकर्षक नहीं लगेंगे जितना आपने उम्मीद की हो।
कैसे की जाती है डिंपल सर्जरी
डिंपल सर्जरी (डिंपलेप्लास्टी) की प्रक्रिया लोकल एनीस्थिसिया में की जाती है। आप चेहरे के जिस भाग में डिंपल बनवाना चाहते हैं सर्जन उस स्थान को चिह्नित कर देता है ताकि आपको सटीक रूप से पता चल जाए कि आप जिस स्थान पर डिंपल बनवाना चाहते हैं वह वही स्थान है या नहीं। इस प्रक्रिया के दौरान, सर्जन प्राकृतिक दिखने वाले डिंपल को बनाने के लिए मुंह के अंदर गाल पर एक छोटा सा चीरा लगाता है और बुक्सिनेटर मांसपेशियों पर काम करता है। काम खत्म करने के बाद गाल के अंदर घुलने वाले टांके लगा दिये जाते हैं और इस छोटी प्रक्रिया के बाद आप अपनी सामान्य गतिविधियों को फिर से शुरू करने में सक्षम होते हैं। एक डिम्पल बनाने की प्रक्रिया को पूरा करने में लगभग 30 मिनट लगते हैं।
चूंकि यह प्रक्रिया मुंह के अंदर की जाती है, इसलिए बाहर से सर्जरी का कोई निशान नहीं दिखेगा। लेकिन आपको एक चीज याद रखनी होगी कि सर्जरी के बाद जो डिंपल बनेगा वह तब भी दिखाई देगा जब आप हंस नहीं रहे हों। सर्जरी के 8 से 10 सप्ताह बाद आपका डिंपल प्राकृतिक डिंपल की तरह हो जाएगा जो सिर्फ हंसते समय ही दिखाई देगा। 
डिंपल क्रिएशन सर्जरी के बाद
सर्जरी के बाद आपको सर्जन की सलाह का पूरी तरह से पालन करना जरूरी है ताकि आपकी रिकवरी ठीक से हो सके। चूंकि यह सर्जरी मुंह के अंदर की जाती है और मुंह के अंदर बैक्टीरिया आसानी से पनप सकते हैं, इसलिए मुंह की उचित देखभाल जरूरी है। मुंह को बैक्टीरिया से मुक्त रखने के लिए दिन में दो बार एंटीसेप्टिक माउथवाॅश से कुल्ला करें। साथ ही उपयुक्त एंटीबायोटिक दवा का भी सेवन करना होता है। दर्द होने पर डाॅक्टर दर्दनिवारक दवा दे सकता है। सर्जरी के बाद कुछ दिनों तक चेहरे पर हल्का से मध्यम सूजन रह सकता है। बेहतर परिणाम प्राप्त करने के लिए कुछ दिनों तक चेहरे के हाव-भाव में अधिक प्रयोग करने से बचने की सलाह दी जाती है।
दुष्प्रभाव
हालांकि डिंपलेप्लास्टी मिनीमली इनवैसिव प्रक्रिया है इसलिए इसके लंबे समय तक रहने वाले कोई दुश्प्रभाव नहीं होते हैं। इसके रक्तस्राव, जलन और मांसपेशियों की कमजोरी जैसे सामान्य दुष्प्रभाव हो सकते हैं। सर्जरी सही नहीं होने पर मुंह के अंदर फोड़ा हो सकता है। लेकिन कुशल काॅस्मेटिक सर्जन से सर्जरी कराने पर इन दुष्प्रभावों से बचा जा सकता है।
टांके को घुलने में लगभग दो हफ्तों का समय लगता है। कुछ दिनों तक गाल के अंदर की त्वचा अधिक मुलायम होती है लेकिन जैसे-जैसे यह ठीक होता जाता है गाल की मांसपेशियों में मजबूती आ जाती है और यह प्राकृतिक रूप में आ जाती है। सर्जरी से बनाये गये डिंपल को प्राकृतिक डिंपल की तरह दिखने में कुछ दिनों से लेकर कुछ हफ्ते लग सकते हैं यह उपचार और हटाये गए ऊतक पर निर्भर करता है। लेकिन आमतौर पर आपके नए डिंपल को प्राकृतिक दिखने में कुछ सप्ताह लग सकते हैं। 


No comments:

Post a Comment