Monday, 11 November 2019

डायबिटीज के रोगी लायें जीवनशैली में सुधार

डायबिटीज से ग्रस्त लोगों को अपने अंदर कई बदलाव लाने होते हैं ताकि वे डायबटीज को नियंत्रण में रख सके। इसके अलावा जिन लोगों को आनुवांशिक कारकों की वजह से डायबिटीज होने का खतरा होता है उन्हें भी अपने जीवन में कई बदलाव लाने होते हैं।
धूम्रपान से करें परहेज
धूम्रपान के सेहत पर दुष्प्रभाव के बारे में सभी को पता है लेकिन डायबिटीज से ग्रस्त लोगों पर इसका और भी अधिक दुष्प्रभाव पड़ता है। धूम्रपान से शरीर में कोलेस्ट्रोल की मात्रा बढ़ जाती है जो कि रुधिर वाहिनी को बाधित कर देता है। यह संक्रमण को भी बढ़ावा दे सकता है। इसके अलावा डायबिटीज से ग्रस्त धूम्रपान करने वाले लोगों में कई बार किडनी के रोग और तंत्रिका तंत्र संबंधित समस्या हो सकती है। इसके अलावा इससेे रक्त में शकरा की मात्रा भी बढ़ जाती है जिससे हृदय रोग का खतरा भी बढ़ सकता है।
शराब की मात्रा को कम कर दें 
कम मात्रा में शराब का सेवन रक्त में शुगर की मात्रा को ज्यादा प्रभावित नहीं करता है। महिलाए दिन में एक बार पी सकती है जबकि पुरुष दिन में दो बार पी सकते। लेकिन सीमा से बाहर शराब पीने से यह आपकी डायबिटीज को प्रभावित कर सकता है। आप शराब में फलो के रस, कोला और अन्य मीठे द्रव्यों को शराब को न मिलाएं। इसके अलावा शराब में बहुत सारी अस्वस्थ्य कैलोरी होती है जो कि आपके वजन को बढ़ा सकती है। इसलिए आप कम से कम मात्रा में शराब का सेवन करें।
कसरत करें  
डायबिटीज से ग्रस्त लोगों को अपने रोजमर्रा के कार्यक्रम में व्यायाम को अवश्य शामिल करना चाहिए क्योंकि यह आपको स्वस्थ रखेगी और आपके वजन को कम करने में भी मदद करेगी। डायबिटीज से ग्रस्त लोगो को व्यायाम करते वक्त अपने दिमाग में कुछ महत्त्पूर्ण बात अवश्य रखनी चाहिए -
- 10 साल से अधिक समय से डायबिटीज से ग्रस्त 35 साल से अधिक उम्र लोगों को अपने व्यायाम के कार्यक्रम शुरू करने से पहले अपने डॉक्टर से सलाह ले लेनी चाहिए। 
- डायबिटीज से ग्रस्त लोगो को वैसे व्यायाम का चुनाव करना चाहिए जो कि उनके ह्रदय की गति को लम्बे समय के लिए बढ़ा सके। व्यायाम के कुछ सही विकल्प हैं - साइकिल चलाना, तैराकी या जाॅगिंग करना। डायबिटीज से ग्रस्त लोगो को अपना व्यायाम इस तरह से करना चाहिए कि उन्हें कोई असुविधा महसूस न हो और अगर वे अपनी व्यायाम करने की तीव्रता को बढ़ना चाहें तो ऐसा बहुत ही धीरे-धीरे करना चाहिए। लेकिन अगर आप कोई असुविधा जैसे कि छाती में दर्द महसूस करें तो आपको तुरंत व्यायाम रोक देना चाहिए और चिकित्सीय सलाह लेनी चाहिए।
- डायबिटीज एक ऐसी स्वास्थ्य समस्या है जिसका पूरी तरह इलाज नहीं किया जा सकता है और इसलिए मरीज को इसके साथ रहना सीखना होगा। आपके लिए बहुत ही जरूरी है कि आप अपनी जीवनशैली में बदलाव लायें। ऐसा करने के लिए सबसे जरूरी यह है कि आपमें बदलाव लाने की इच्छा होनी चाहिए। आप अपने अंदर एक मजबूत इच्छा शक्ति पैदा करें ताकि आप डायबिटीज से लड़ सकें और उसको नियंत्रण में रख सकें।


Labels:

0 Comments:

Post a Comment

<< Home