Monday, 11 November 2019

डायबिटीज से जुड़े भ्रम और तथ्य

भ्रम: अधिक मीठा खाने से डायबिटीज होता है।
तथ्य: अब तक ऐसा कोई भी प्रमाण नहीं मिला है, कि सिर्फ मीठा खाना ही डायबिटीज का कारण है। बल्कि यह बीमारी अनुवांशिक कारणों से, गलत खान-पान की आदतों, जीवनशैली में बदलाव और शारीरिक श्रम की कमी के कारण होती है। अगर आपके किसी मित्र या पड़ोसी को डायबिटीज है तो आपको भी यह बीमारी हो सकती है।
भ्रम: डायबिटीज संक्रामक बीमारी है।
तथ्य: डायबिटीज कोल्ड या फ्लू की तरह संक्रामक बीमारी नहीं है। डायबिटीज होने के मुख्य कारण आनुवांषिक और जीवन शैली में बदलाव है।
भ्रम: डायबिटीज के मरीजों को मिठाइयों और चाॅकलेट से दूर रहना चाहिए।
तथ्य: डायबिटीज के मरीजों के लिए स्वस्थ जीवनशैली बहुत महत्व रखती है। ऐसे में मिठाइयों और चाॅकलेट का कभी-कभार सेवन करने के साथ व्यायाम भी किया जायेे तो इनसे किसी भी प्रकार का नुकसान नहीं होता।
भ्रम: अधिक मात्रा में शुगर लेने से डायबिटीज होता है।
तथ्य: यह सच नहीं है। डायबिटीज शुगर के सेवन के कारण नहीं, बल्कि अनुवांशिक कारणों और जीवनशैली में परिवर्तन के कारण होता है। स्वस्थ्य आहार लेकर और प्रतिदिन व्यायाम करके वजन पर नियंत्रण रखा जा सकता है। अगर आपके घर में पहले से ही किसी को डायबिटीज हुआ है और अगर आपका वजन भी अधिक है तो आपमें डायबिटीज होने का खतरा बढ़ जाता है।
भ्रम: डायबिटीज के मरीज को स्पेल डायबिटीक खाना देना चाहिए।
तथ्य: डायबिटीज के मरीज को स्पेल डायबिटीक खान से किसी प्रकार का खास लाभ नहीं होता। डायबिटीज के मरीजों को सैचुरेटेड फैट और ट्रांस फैट कम मात्रा में लेना चाहिए। उसे स्वस्थ्य भोजन और स्वस्थ फल व सब्जियों के साथ साबुत अनाज खाना चाहिए।
भ्रम: डायबिटीज के मरीज को ब्रेड, आलू और पास्ता जैसी चीजें कम खानी चाहिए।
तथ्य: स्टार्च युक्त खाद्य पदार्थ स्वस्थ भोजन की श्रेणी में आते हैं। महत्वपूर्ण बात यह है कि उनकी मात्रा कितनी होनी चाहिए। बहुत से डायबिटीज के मरीजों के लिए 3 से 4 बार कार्बोहाइड्रेट युक्त खाना खाना ठीक होता है।
भ्रम: डायबिटीज के मरीजों को कोल्ड और दूसरी बीमारियां जल्दी होती हैं।
तथ्य: डायबिटीज के मरीजो को कोल्ड से बचने की सलाह दी जाती है लेकिन यह गलत है कि उन्हें कोल्ड या दूसरी बीमारियां जल्दी होती हैं।
भ्रम: डायबिटीज के मरीजों को अधिक मात्रा में फल खाने चाहिए।
तथ्य: डायबिटीज के मरीजों को वैसे फलों का अधिक सेवन करना चाहिए जिनमें फाइबर और विटामिन की मात्रा अधिक हो।
भ्रम: स्वस्थ्य खाद्य पदार्थो से रक्त में षुगर की मात्रा नहीं बढ़ती है।
तथ्य: अगर शरीर में इन्सुलिन की मात्रा ठीक होती है या इन्जेक्शन के द्वारा इन्सुलिन दिया जाये तो हमारा शरीर कार्बोहाइड्रेट को अवशोषित कर लेता है और रक्त में शुगर की मात्रा को बढ़ने नहीं देता।
भ्रम: डायबिटीज के मरीजों को व्यायाम से कोई लाभ नहीं मिलता है।
तथ्य: यह बिलकुल गलत है। व्यायाम से पैंक्रियाज और अधिक मात्रा में इन्सुलिन का स्राव करती है और तनाव की स्थिति को नियंत्रित रखती है। इन दोनों ही स्थितियों में तनाव संतुलित रहता है और रक्त में शुगर की मात्रा नियंत्रित रहती है।
भ्रम: प्रतिदिन के तनाव का डायबिटीज से कोई संबंध नहीं होता।
तथ्य: तनाव की स्थिति में रक्त में शुगर का स्तर बढ़ने लगता है। डायबिटीज के मरीजों को आराम करने और तनाव की स्थिति को नियंत्रित करने की सलाह दी जाती है।


Labels:

0 Comments:

Post a Comment

<< Home