Thursday, 7 November 2019

एसीएल नी इंजुरी

एसीएल नी इंजुरी क्या है?
एसीएल इंजुरी तब होती है जब घुटने के अंदर ऐंटीरीअर कोलैटेरल लिगामेंट फट जाता है या अधिक स्ट्रेच हो जाता है। आपका लिगामेंट आंशिक रूप से फट सकता है या पूरा फट सकता है। एसीएल अक्सर खेल या अन्य गतिविधियों के दौरान चोटिल हो सकता है जिसके कारण आपको अपनी गतिविधियों को अचानक रोकना पड़ सकता है। यदि आपको एसीएल इंजुरी हुई है, तो आपके घुटने में चटकने की तेज आवाज सुनाई दे सकती है या घुटने में तेज दर्द या सूजन हो सकती है। ऐसा भी महसूस हो सकता है कि आपका घुटना अस्थिर है। एसीएल को ठीक करने के लिए आपको सर्जरी कराने की आवश्यकता हो सकती है।
एसीएल नी इंजुरी के कुछ सामान्य लक्षण
कमजोरी, जकड़न या गति कम हो जाना, जोड़ से चटकने या तड़कने की आवाज आना, जोड़ में दर्द, वजन सहन करने में असमर्थता, सूजन, जोड़ में अस्थिरता, चलने में कठिनाई, गार्डिंग या फेवरिंग ज्वाइंट
निदान और उपचार
निदान - एसीएल इंजुरी का निदान करने के लिए, डॉक्टर आपके चिकित्सीय इतिहास की जानकारी लेगा और शारीरिक परीक्षण करेगा। डॉक्टर एक्स-रे, अल्ट्रासाउंड, एमआरआई या आथ्रोस्कोपी कराने की भी सलाह दे सकता है।
उपचार - एसीएल इंजुरी के उपचार में शामिल हो सकते हैं:
1. एंटी- इंफ्लामेट्री दवाएं
2. फिजियोथेरेपी
3. सर्जरी, अगर डॉक्टर ने सलाह दी हो
खुद की देखभाल: एसीएल इंजुरी होने पर डॉक्टर से इलाज कराने की जरूरत होती है। लेकिन आप घर पर खुद भी एसीएल इंजुरी के लक्षणों को कम करने में मदद कर सकते हैं:
1. अपने घुटने पर जोर नहीं देने के लिए आप बैसाखी का उपयोग करें।
2. हर कुछ घंटे में लगभग 20 मिनट के लिए अपने घुटने पर आईस पैक को पतली तौलिया में लपेटकर रखें।
3. अपने घुटने को ऊपर रखें।
4. इबुप्रोफेन जैसी बिना नुस्खे वाली दर्द निवारक दवा लें।
महत्वपूर्ण जानकारी
यदि आपको एसीएल इंजुरी के कोई लक्षण हैं, जैसे इंजुरी के समय चटकने की तेज आवाज, घुटने में दर्द, सूजन, कोमलता, या ऐसा महसूस करना कि आपका घुटना स्थिर नहीं है, तो अपने डॉक्टर को दिखाएं। चोट लगने के बाद यदि आपके घुटने नीले दिखते हैं या ठंडक महसूस होती है तो तुरंत अस्पताल की इमरजेंसी में दिखाएं।


Labels:

0 Comments:

Post a Comment

<< Home