Friday, 1 November 2019

यूनिसेफ की पहल : जेनरेशन अनलिमिटेड पार्टनरशिप

2018 में यूनिसेफ ने विश्व स्तर पर जेनरेशन अनलिमिटेड पार्टनरशिप की शुरुआत की। सम्रग सतत विकास के लक्ष्यों के दायरे में कार्यरत और नई यूएन यूथ पॉलिसी 2030 के तहत जेनरेशन अनलिमिटेड यह सार्वभौमिक एजेंडा देता है कि सभी देश युवाओं की शिक्षा, कौशल विकास और सशक्तिकरण के लिए अधिक प्रयास कर सकते हैं और करना भी चाहिए



2018 में यूनिसेफ ने विश्व स्तर पर जेनरेशन अनलिमिटेड पार्टनरशिप की शुरुआत की। सम्रग सतत विकास के लक्ष्यों के दायरे में कार्यरत और नई यूएन यूथ पॉलिसी 2030 के तहत जेनरेशन अनलिमिटेड यह सार्वभौमिक एजेंडा देता है कि सभी देश युवाओं की शिक्षा, कौशल विकास और सशक्तिकरण के लिए अधिक प्रयास कर सकते हैं और करना भी चाहिए, 2018 में नीति आयोग ने भारत में राष्ट्रीय युवा विमर्श का आयोजन किया। इसमें 6 राज्यों के 250 से अधिक युवाओं के विचार सुने गए। उनके सपनों, आकांक्षाओं और समस्याओं और भविष्य की चिंताओं को सुनने का अवसर मिला। साथ ही, समाधान भी सामने आए जो वे चाहते हैं



इस विमर्श से रणनति बनाने की जानकारी मिली जिसके आधार पर भारत में युवाह! लांच किया गया। 'युवा' शब्द हिन्दी भाषा का है जिसका अर्थ नौजवान (युवा) होता है• भारत में युवाह! 2030 तक निम्नलिखित के साथ कार्य करेगा :


० निजी क्षेत्र के भागीदार, ताकि जॉब मैचिंग और जन-जन को उद्यमी बना ___ कर 50 मिलियन युवतियों और 50 मिलियन युवाओं के लिए आर्थिक अवसर का मार्ग प्रशस्त किया जा सके।


0 200 मिलियन युवतियों और युवकों को जीवन में उपयोगी और भविष्य में कार्य के लिए उपयुक्त कौशल दिया जा सके। कॅरियर काउंसेलिंग पर जोर देते हुए 21वीं सदी के कौशल, गुणवत्तापूर्ण इंटर्नशिप और एपरेंटिसशिप की सुविध दी जा सके


0 300 मिलियन युवतियों और युवकों को समस्या समाधान के साधनों से लैस कर उन्हें समाज बदलने के लिए उत्प्रेरक की भूमिका देना


No comments:

Post a Comment