Friday, 1 November 2019

युवाओं के लिए भारत की नई जोरदार पहल – युवाह!

Ms. Henrietta H Fore, ED, UNICEF & Smt. Smriti Irani, Minister for WCD inspecting the stalls at the Yuwaah launchयूनिसेफ भारत के 300 मिलियन से अधिक युवाओं के साथ और उनके लिए शिक्षा, कौशल विकास और रोजगार परिदृश्य बदलने के लक्ष्य से नई साझेदारियों का समर्थन करेगा


महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती स्मृति इरानी ने आज राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय साझेदारों के साथ देश के शिक्षा, कौशल विकास और रोजगार परिदृश्य बदलने के मकसद से एक नई जोरदार राष्ट्रीय पहल की शुरुआत की है। 10 से 24 साल के 300 मिलियन से अधिक युवाओं को इसका लाभ मिलेगा। इस शुरुआत पर युवाह! साझेदारों का जोरदार समर्थन करते हुए प्रधान मंत्री मोदी ने एक पत्र के माध्यम से यह संदेश दिया कि 'युवाह – द जेनरेशन अनलिमिटेड पार्टनरशिप' युवाओं को सबल बनाने में अहम् भूमिका निभाएगा। कौशल विकास कर वे अपनी सर्जना और शक्ति से 21वीं सदी का भारत बनाएंगे। मुझे विश्वास है कि इस साझेदारी से हमारे युवा समज बदलने में सबसे आगे आएंगे।'


नई दिल्ली के हैबिटेट सेंटर में लांच के अवसर पर मंत्री स्मृति इरानी ने कहा कि भारत सरकार युवाह को देश में बदलाव का साझेदार बनाने के लिए कृतसंकल्प है और इस पहल से युवाओं को शिक्षा के बाद 21वीं सदी में काम की दुनिया में कदम रखने में मदद मिलेगीभारत सितंबर 2018 में न्यूयॉर्क में शुरू जेनरेशन अनलिमिटेड आंदोलन से जुड़ी अपनी राष्ट्रीय पहल को शुरू करने वाले विश्व के पहले देशों में से एक है। यूएनआईसीईएफ की सहायता से, जेनरेशन अनलिमिटेड युवा लोगों को उनकी शिक्षा और प्रशिक्षण में निवेश की गंभीर चुनौती का सामना करने के लिए निजी क्षेत्रों, सरकारों, अंतरराष्ट्रीय और स्थानीय संगठनों से जोड़ता है ताकि वे कार्य के जटिल और तेज रफ्तार दुनिया के लिए तैयार हों और सक्रिय तथा व्यस्त नागरिक बन सकें। वर्ष 2030 तक समस्त विश्व में दो अरब महिलाएँ पुरुष एक उज्जवल भविष्य के अवसरों की तलाश में होंगेउद्घाटन के अवसर पर बोलते हुए, यूएनआईसीईएफ की कार्यकारी निदेशक हेनरीटा फोरे ने भारत के युवा लोगों के पढ़ाई पूरी होने पर रोजगार के क्षेत्र में प्रवेश को केंद्र में रखते हुए उनके लिए अवसर बढ़ाने हेतु मार्गदर्शन के लिए प्रधानमंत्री और उनकी सरकार को बधाई दी।


Ms. Henrietta H Fore, ED, UNICEF & Smt. Smriti Irani, Minister for WCD launching Yuwaah"किसी भी देश के युवा लोगों की ऊर्जा, संकल्पनाएँ और सपने उसकी सबसे बड़ी संपत्ति होते हैं। युवा लोग अपने भविष्य का निर्माण स्वयं करते हैं, इसलिए वे भारत के भविष्य का निर्माण भी करेंगे। उनमें निवेश करना सबसे अच्छा निवेश है जो भारत कर सकता है।" उद्घाटन समारोह में नीति आयोग के मुख्य कार्यकारी पदाधिकारी श्री अमिताभ कंठ; कौशल एवं उद्यमिता विकास मंत्रालय, भारत सरकार के सचिव, युवा मामलों के सचिव डॉ. के. पी. कृष्णन; सुश्री संयुक्त राष्ट्र संघ रेजिडेंट कोऑर्डिनेटर सुश्री उपमा चौधरी, सुश्री रेनाटा लोक-देसालिएन, एफआईसीसीआई के महासचिव श्री दिलीप शेनॉय, यूएनआईसीआईएफ में युवाओं के विशेष प्रतिनिधि श्री रवि वेंकटेशन और उच्च स्तर के अन्य अतिथियों ने भी भाग लिया और समस्त भारत के बच्चों व युवाओं के जीवन में बदलाव लाने के लिए आज यह बहु–भागीदार सहकारिता शुरू कीलांच के अवसर पर 30 से अधिक साझेदरों के साथ रणनीतिक महत्व की साझेदारी की गई जिसका मकसद युवाह! के अगले कदम की दिशा तय करना है। सुश्री फोर ने यह घोषणा की कि यूनिसेफ युवाह! सेक्रेटारियट के स्टार्ट-अप को सहयोग देगा। समर्थन में जुटे साझेदरों को मिल कर काम करते हुए समाधान के लिए अधिक से अधिक युवाओं से संपर्क करना होगा।


Ms. Henrietta H Fore, ED, UNICEF addressing the gathering at the launch of Yuwaahलांच के अवसर पर युवाओं की आवाज को प्रमुखता दी गईप्रतिभागी इंटरएक्टिव 'सॉल्यूशंस कैफे देखने गए जो युवाओं की प्रदर्शनी है जिसका मकसद कौशल विकास, रोजगार आकलन के लिए इनोवेटिव आइडिया साझा करना है। साथ ही, नागरिकों और समाज बदलने में लगे लोगों की भागीदारी सुनिश्चित करना है। श्रीमती इरानी और कार्यकारी निदेशक सुश्री फोर ने एक विशेष 'यू-रिपोर्ट' डिजिटल सर्वे भी लांच किया जिसका मकसद पूरे देश के युवाओं को सुनना और उनसे जुड़ना है ताकि उनकी आवाज बुलंद हो और युवाह! भागीदारों के कार्यों की रूपरेखा निर्धारित की जा सके। युवाह! भागीदारों की गतिविधियों की शुरुआत करते हुए नेशनल यूथ चैलेंज भी लांच किया गया। युवा नेता श्री प्रवीण धनवाड़े और नीति आयोग (नेशनल इंस्टीट्यूशन फॉर ट्रांसफॉर्मिंग इंडिया) के सीईओ श्री अमिताभ कांत ने संयुक्त रूप से यूथ चैलेंज लांच किया जिसका मकसद पूरे देश की युवतियों और पुरुषों के साथ ऐसे साधनों को साझा करना है जो : • औपचारिक या अनौपचारिक शिक्षा को बढ़ावा देकर जो युवाओं के जीवन को उपयोगी बनाने और भविष्य में रोजगार के लिए आवश्यक कौशल विकास करे। • युवाओं को उपलब्ध कार्य के अवसरों से जोड़ने में सुधार करे• गुणवत्तापूर्ण शिक्षा, प्रशिक्षण, रोजगार, उद्यमी और नागरिक भागीदारी के लिए बराबर सुविधाओं को बढ़ावा दे।


युवाह! अलायंस के पार्टनर सर्वश्रेष्ठ आइडिया को सहयोग देकर सॉल्यूशंस को अधिक व्यापक बनाएंगे। कौशल विकास, ज्ञान अर्जन, रोजगार, उद्यमिता और नागरिक भागीदारी में युवाओं के लिए अवसर बढ़ाने हेतु 250 से अधिक सॉल्यूशंस की रूपरेखा बना ली गई है। साथ ही कमियां दूर करने के लिए सॉल्यूशन आमंत्रित किए गए


इससे संगठनों और युवा लोगों के बीच परस्पर सहयोग मजबूत होगा"युवाह! आपका अपना है बिल्कुल भावी भारत की तरह आपका अपना। इसलिए हमें कुछ बड़ा सोचने. दमदार होने में मदद कीजिए। आपकी पीढ़ी में देश का भविष्य बदलने की ताकत हैइससे इनोवेशन और आर्थिक विकास में तेजी आती है। भविष्य के लिए रोजगार सृजन होता है और समृद्धि बढ़ती है जो भारत को अपनी विशाल आबादी की खुशहाली के लिए चाहिए। आज देश को आपकी जरूरत है। यहां मौजूद पार्टनर आपके साथ खड़े हैंआपको मदद पहुंचाने वाले आइडियाज़ और सॉल्यूशन में निवेश करने के लिए खड़े हैं।"


No comments:

Post a Comment