Monday, 11 November 2019

डायबिटीज में भी लें फलों का मजा

वैसे तो डायबिटीज में भी आप एक आम स्वस्थ इंसान की तरह अलग-अलग प्रकर के फलों का सेवन कर सकते हैं। लेकिन डायबिटीज के मरीजों को केले, अंगूर, आम, लीची और सेब जैसे फलों से परहेज करने की सलाह दी जाती है। ऐसा इन फलों में मौजूद कार्बोहाइड्रेट यानी फ्रुक्टोज और सुक्रोज के कारण ब्लड में शुगर के स्तर में इजाफा के कारण होता हैं। लेकिन फल शरीर में जरूरी विटामिन, मिनरल, एंटी-ऑक्सीडेंट और फाइबर की आपूर्ति करते हैं। इसलिए डायबिटीज के मरीजों को नियमित रूप से कम से कम फल को अपने आहार में जरूर शामिल करना चाहिए।
एक सेब रोज खायें और स्वस्थ जीवन पायें
सेब को एक नकारात्मक कैलोरी आहार माना जाता है क्योंकि इसके पाचन में अधिक मात्रा में कैलोरी की आवश्यकता होती है। सेब में पेक्टिन की मात्रा अधिक होती है, जो कि डायबिटीज के मरीज के लिए डिटाक्सफाइ की तरह काम करता है। इसके अलावा सेब में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने और रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में मदद करता है।
चेरीज और बेरीज
यह मधुमेह रोगियों के लिये बहुत ही स्वास्थ्य वर्धक माना जाता है। इस मीठे और खट्टे फलों में विशेष प्रकार का केमिकल एन्थोसाइनिन पाया जाता है। यह केमिकल ना सिर्फ चेरी को गहरा रंग प्रदान करता है बल्कि शरीर में इन्सुलिन की मात्रा को नियंत्रित रखता है और हृदय संबंधी बीमारियों के खतरे को भी कम करता है। दिन में एक बार चेरी खाने से डायबिटीज निंयत्रित रहती है। 
ग्रेपफ्रूट यानी स्वाद और फिटनेस साथ-साथ
ग्रेपफ्रूट एक खट्टा फल है जो सम्पूर्ण पोषण के लिए बहुत अच्छा होता है। यह खट्टा फल आपके शरीर में वसा को बढ़ाने वाली इंसुलिन के स्तर को कम करता हैं। इनमें फाइबर भी प्रचुर मात्रा में होता है। जो लोग बचपन से ही ग्रेप फ्रूट का सेवन करते हैं उनमें डायबिटीज का खतरा बहुत कम हो जाता है। 
फाइबर युक्त फल स्ट्रॉबेरी
घुलनशील फाइबर युक्त फल स्ट्रॉबेरी जल्दी पचने के कारण आंतों में आसानी से अवशोषित हो जाते हैं। फाइबर युक्त फल आंत को साफ रखने का काम करते हैं। स्ट्रॉबेरी में मौजूद तत्व शरीर में 'एनआरएफ 2' नाम के प्रोटीन को सकारात्मक रूप से सक्रिय कर देता है। यह प्रोटीन शरीर में एंटी-ऑक्सीडेंट और अन्य सुरक्षा गतिविधियों को बढ़ा देता है।
शुगर की मात्रा को संतुलित करे जामुन
डायबिटीज रोगियों के लिए यह फल बहुत ही लाभकारी है। डायबिटीज के मरीज अगर जामुन के बीज को पीसकर एक गिलास पानी में डालकर पीयें तो इससे यूरीन में शुगर की मात्रा संतुलित रहती है। जामुन स्टार्च को शुगर में परिवर्तित नहीं होने देता और रक्त में ग्लूकोज के स्तर को भी संतुलित रखता है।
विटामिन सी से भरपूर कीवी 
इस फल में विटामिन सी की मात्रा अधिक होने के कारण ये शरीर को कई रोगों से निजात दिलवाने में मदद करता है। यह जितना अंदर से गुणकारी है उतना ही इसके छिलके में भी बहुत से गुण होते है। डायबिटीज से परेशान लोगों के लिए कीवी काफी फायदेमंद होती है। कीवी खाने से ब्लड शुगर के स्तर को कम किया जा सकता है। 
खरबूजे का सेवन 
डायबिटीज रोगियों के लिए खरबूजा एक औषधि की तरह काम करता है। यह ब्लड शुगर के स्तर को नियंत्रित करने में मदद करता है। इसके अलावा इसमें ग्लाइसिमिक इंडेक्स ज्यादा होने के बावजूद भी फाइबर बहुत अधिक मात्रा में होता है, इसलिए यदि इसे सही मात्रा में खाया जाए तो अच्छा होता है। 
अनानास 
अनानास में विटामिन और मिनरल की भरपूर मात्रा होती है। जैसे विटामिन ए और सी, कैल्शियम, पोटेशियम और फास्फोरस भी इसमें मौजूद होता हैं। फाइबर युक्त और फैट व कोलेस्ट्रॉल बहुत कम होने के कारण सेहत के लिए इसे फायदेमंद माना जाता है। यह पैनक्रियाज में बनने वाले रस को नियंत्रित करता हैं जो पाचन क्रिया में आगे मददगार होते हैं। पैनक्रियाज में नियंत्रण के कारण हम डायबिटीज जैसी बीमारी से भी सुरक्षित रह सकते हैं। 
औषधि है नाशपाती 
नाशपाती में सेब की तरह औषधीय गुण पाए जाते हैं। इसमें विटामिन, एंजाइम और पानी में घुलनशील फाइबर समृद्ध मात्रा में पाए जाते हैं। नाशपाती में बहुत अधिक मात्रा में फाइबर और विटामिन की मौजूदगी के कारण यह डायबिटीज रोगियों के लिए औषधि की तरह काम करता है। इससे मीठा खाने की तलब नहीं लगती है। 


No comments:

Post a Comment