Friday, 8 November 2019

कैसे हो बच्चे का सही विकास

बच्चे का शारीरिक एवं मानसिक विकास एक प्राकृतिक प्रक्रिया है लेकिन विभिन्न आयु-स्तर पर आने वाले शारीरिक एवं मानसिक परिवर्तनों की जानकारी माता-पिता के लिए जरूरी है ताकि विकास की किसी भी तरह की अवरुद्धता का पता तुरन्त लगाया जा सके तथा आवश्यक कदम उठाया जा सके क्योंकि ऐसा न करने से यह स्थायी हो सकती है।


शारीरिक विकास के आवश्यक अवयव
— गर्दन संभालना; गर्दन ऊपर उठाना
— बैठना, करवट लेना
— पेट के बल सरकना
— घुटने चलना; खड़ा होना
— चलना शुरू करना
— भागना, सीढ़ियाँ चढ़ना; कूदना
— अपने कपड़े पहनने में माँ की सहायता करना 
— अपने कपड़े खुद पहनना शुरू कर देना 


दिमागी विकास
— मुस्कराना
— माता-पिता और अन्य सगे-संबंधियों की आवाज को पहचानना
— अजनबियों से डरना
— बोलना
— जानवरों को पहचानना
— सगे-संबंधियों और भाई-बहनों को पहचानना
— माता-पिता द्वारा दिये आदेशों को पूरा करना
— अपने आप से कुछ निर्णय लेना


बच्चे के मानसिक, शारीरिक एवं सामाजिक विकास के कुछ महत्वपूर्ण मानक स्तंभ
1 माह — रंगीन वस्तुओं पर आँखें स्थिर करना, आवाज करने पर आँखें घुमा लेना या हाथ-पैर सिकोड़ लेना।


1-1.5 माह — हाथ ऊपर उठाना।


3 माह — देखकर मुस्कराना।


6 माह — सिर को गर्दन पर संभाल लेना व आवाज होने पर सिर घुमा कर देखना, माँ की पहचान होना, कूं-कूं की आवाजें निकालना।


9 माह — सहारे के साथ बैठना, एक हाथ से दूसरे हाथ में वस्तुएँ बदल लेना, या कोशिश करना हँसना।


1 वर्ष — बिना सहारे के बैठ जाना, गर्दन को इधर-उधर घुमा लेना, किसी वस्तु को ऊंगली व अंगूठे के बीच हाथ का सहारा देकर पकड़ लेना, म-म, द-द, ब-ब आदि शब्दों का उच्चारण करना, टाटा या बाई-बाई कर लेना।


1-1.5 वर्ष — स्वयं खड़े हो जाना व चलना, ऊंगली व अंगूठे के बीच वस्तुओं को बिना हथेली का सहारा दिये हुए पकड़ना, दो वर्णों के शब्दों को बोल लेना, स्वयं चम्मच पकड़ कर खा सकना।


2-2.5 वर्ष — सीढ़ी चढ़ लेना, सीधी खड़ी लाइन खींच लेना, दो टुकड़ों को एक के ऊपर रख लेना, दो शब्दों के वाक्य बना लेना जैसेµ'मामा पानी', दिन के समय बिस्तर गीला न करना।


3 वर्ष — सहारे के साथ सीढ़ी उतर लेना, सीधी-टेढ़ी लाइन खींच लेना व 6 टुकड़ों को एक के ऊपर एक रख लेना, वाक्य बनाकर बोलना, बिस्तर गीला न करना, कागज फाड़ना व गोला बना लेना।


4 वर्ष — कूदना, त्रिकोण बना लेना व 8 टुकड़ों को पुल की तरह व्यवस्थित कर सकना, 30-100 तक शब्दों का उच्चारण कर लेना, टट्टी-पेशाब को नियंत्राण करना।


5 वर्ष — चतुर्भुज बना लेना, कपड़े पहनना व उतार लेना, पिरामिड बना सकना, जूते के फीते बाँध सकना।


Labels:

0 Comments:

Post a Comment

<< Home