Sunday, 24 November 2019

चुम्बन बीमार भी बना सकता है

चुम्बन प्यार की अभिव्यक्ति है लेकिन अगर आपको काष्ठ फलों या फलियों से एलर्जी है तो चुम्बन से पूर्व यह अवश्य पता लगा लें कि जिससे आप चुम्बन का आदान-प्रदान कर रहे हैं उसने फलियों का सेवन तो नहीं किया है। 
न्यू इंगलैंड जर्नल के ताजा अंक में प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार काष्ठफलों से एलर्जी वाले व्यक्ति को अगर वैसा व्यक्ति चुम्बन ले ले जिसने पिछले छह घंटांे के दौरान फलियों का सेवन किया है तो उसे  खुजली या जलन की शिकायत हो सकती  है। अभी हाल में चिकित्सकों के सामने तीन साल के बच्चे की गाल पर चुम्बन लेने का एक ऐसा मामला प्रकाश में आया जिसमें चुम्बन के बाद उस बच्चे की स्थिति इस कदर बिगड़ गयी कि उसे अस्पताल में आपातस्थिति में भर्ती कराना पड़ा। पहले के अध्ययनों से भी ऐसे निष्कर्ष सामने आते रहे हैं कि अत्यंत संवेदनशील लोगों को जब प्रतिकूल भोजन करने वाले लोग चुम्बन लेते हैं तो उन्हें बीमार होने का खतरा रहता है। 
अपने नवीनतम अध्ययन में लोरी हाॅपनेन, डा. रासमैरी हैलेट और डा. सुजेन ट्यूबर ने विशेष प्रश्नावलियों के आधार पर फलियों से एलर्जी वाले 379 मरीजों पर अध्ययन किया। प्रश्नावलियों में चुम्बन के बारे में कोई सवाल नहीं किया गया था इसके बावजूद इनमें से 20 लोगों ने स्वेच्छा से कहा कि उन्हें चुम्बन के बाद खुजली और चुम्बन वाले क्षेत्र के आसपास सूजन जैसी समस्याएं हुयी। अध्ययन करने वाले चिकित्सकों का मानना है कि चुम्बन के बाद खुजली जैसी समस्या का सामना करने वाले लोगों की संख्या वास्तव में इससे कहीं अधिक होेेगी। इन चिकित्सकों ने इन 20 लोगों का व्यापक परीक्षण करने पर पाया कि इनमें से 17 लोगों को चुम्बन के एक मिनट के भीतर ही खुजली और सूजन जैसे एलर्जी संबंधी लक्षण प्रकट हो गये। इनमें चार लोगों को हफनी भी हुयी। 
अध्ययन में पाया गया कि फलियों का सेवन करने के बाद ब्रश करके चुम्बन लेने से भी फलियों से एलर्जी वाले चार लोगों में खुजली एवं अन्य लक्षण प्रकट हुये। दो मामलों में फलियों के सेवन के छह घंटे बाद चुम्बन लेने पर भी एलर्जी संबंधी समस्या सामने आयी। चिकित्सकों का सुझाव है कि आज जब लड़के-लड़कियों के बीच डेटिंग जैसी प्रवृतियां बढ़ रही है, चुम्बन के संभावित खतरों के बारे में सामाजिक जागरूकता कायम करना आवश्यक है


No comments:

Post a Comment