Thursday, 28 November 2019

गाउट आर्थराइटिस से कैसे पायें निजात 

गाउट आर्थराइटिस जैसी इंफ्लामेट्री आर्थराइटिस युवा लोगों में अधिक आम होती जा रही है। गाउट से निजात पाने के तरीकों के बारे में बता रहे हैं नयी दिल्ली स्थित अपोलो स्पेक्ट्रा हाॅस्पिटल्स के वरिष्ठ ज्वाइंट रिप्लेसमेंट सर्जन, डॉ. पुनीत दिलावरी। 
गाउट एक प्रकार की इंफ्लामेट्री आर्थराइटिस है। यह वैसे लोगों को होती है जिनके रक्त में यूरिक एसिड की मात्रा अधिक हो। यह एसिड जोड़ में सुई की तरह के क्रिस्टल का निर्माण करता है और अचानक तेज दर्द,  नरमी, लालिमा, गर्मी और सूजन पैदा करती है।
लक्षण
गाउट का पहला लक्षण पैर के अंगूठे में तेज दर्द और सूजन होना है। यह टखने या घुटने जैसे अन्य जोड़ों में भी दिखाई दे सकती है। गाउट एक समय में आम तौर पर एक जोड़ को प्रभावित करती है, लेकिन इलाज नहीं कराने पर यह कई जोड़ों को प्रभावित कर सकती है।
कारण
गाउट शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा अधिक हो जाने के कारण होती है। यह स्थिति हाइपरयूरिसीमिया कहलाती है। गाउट के मुख्य कारण आहार में कुछ अधिक प्यरिन वाले खाद्य पदार्थों (अधिक प्रोटीन वाले आहार) का सेवन, शराब का अत्यधिक सेवन, मोटापा और टाइप 2 मधुमेह हैं।
परीक्षण
— रक्त में यूरिक एसिड के स्तर को मापने के लिए रक्त परीक्षण।
— साॅफ्ट टिश्यू और हड्डी की जांच करने के लिए एक्स-रे, अल्ट्रासाउंड, सीटी स्कैन या एमआरआई।
— चिकित्सक प्रभावित जोड़ से तरल पदार्थ को निकालकर माइक्रोस्कोप से यूरिक एसिड क्रिस्टल की जांच कर सकते हैं। जोड़ के तरल में यूरिक एसिड क्रिस्टल का पता लगाना गाउट की पहचान करने का पक्का तरीका है।
इलाज
एंटी- इंफ्लामेट्री दवाइयों के एक कोर्स से जोड़ की लाइनिंग को इनफ्लेम करना एक प्रचलित तरीका है। गंभीर गाउट के लिए, काॅर्टिकोस्टेराॅयड लेने की सलाह दी जा सकती है। जोड़ में स्टेरॉयड इंजेक्शन लगाकर समस्या को तेजी से कम किया जा सकता है। मरीजों को आराम करना चाहिए, प्रभावित अंग को उपर रखना चाहिए और जोड़ को चोट से बचाना चाहिए।
रोकथाम
— शराब से परहेज करें।
— जिगर, गुर्दे, चर्बी वाली मछली, समुद्री भोजन और मांस के सेवन से परहेज करें।
— कम वसा वाले डेयरी उत्पादों का अधिक सेवन करें क्योंकि यह गाउट से सुरक्षा प्रदान करता है। दूध प्रोटीन यूरिक एसिड को दूर कर शरीर की क्षमता को बढ़ाता है।
— आहार में अधिक एंटीऑक्सीडेंट युक्त खाद्य पदार्थों को शामिल करें।
— वजन को कम रखकर और अधिक व्यायाम कर यूरिक एसिड के स्तर को कम करने में मदद मिलेगी।


 


No comments:

Post a Comment